No More Mr. Nice Guy by Dr. Robert Glover Guy Hindi Summary

 No More Mr. Nice Guy: A Proven Plan for Getting What You Want in Love, Sex and Life by Robert Glover Download Free ebook

No More Mr. Nice by Dr. Robert Glover Guy Hindi Summary

---------- About ----------

क्या आपको लगता है कि आप मिस्टर नाईस  गाय  बन-बनकर बोर हो चुके हो? क्या आप अपने ईमोश्सं छुपाते-छुपाते थक चुके हो और दूसरो को खुश रखते-रखते तंग आ चुके हो? क्या आपको अपने प्यार, सेक्स और लाइफ में वो सब मिल रहा है जो आप चाहते हो? आपके मन में भी अगर इस तरह के सवाल उठ रहे हो तो ये समरी पढ़िये जो आपको सिखाएगी कि कैसे अपने नाईस  गाय  सिंड्रोम को हैंडल किया जाए और अपनी वाइफ या गर्लफ्रेंड के साथ अपने रिलेशनशिप को कैसे इम्प्रूव या फिक्स किया जाए. ये समरी आपको एक better, स्ट्रोंगर और पहले से ज्यादा फुलफिल्ड आदमी बनना सिखाएगी. 

ये समरी किस-किसको पढ़नी चाहिए ?

•    पति और पत्नी  

•    बॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड 

•    सिंगल  लोगों  को 

ऑथर के बारे में 

डॉ. रॉबर्ट ग्लवर एक बेस्ट सेलिंग author और स्पीकर हैं। वो लोगों को उनकी ज़िंदगी में और पर्सनल relationship में जो चाहिए, उसे पाने में मदद करते हैं और इस काम का उन्हें 30 सालों का तजुर्बा है। उनकी किताबों, सेमिनार और पॉडकास्ट ने दुनिया भर में men’s movement को जन्म दिया है।

---------- Summary ----------

No More Mr. Nice Guy by Dr. Robert Glover Guy

इंट्रोडक्शन 

नाईस  गाय  कौन होता है? एक नाईस  गाय  वो होता है जो अपनी लाइफ में सबको खुश रखने की कोशिश करता है जैसे उसकी वाइफ या गर्लफ्रेंड, फेमिली, फ्रेंड्स, यहाँ तक कि पड़ोसी को भी. एक नाईस  गाय  की हमेशा यही कोशिश रहती है कि वो लाइफ में जो भी करे सही करे और जहाँ तक हो सके उसका कभी किसी के साथ झगड़ा या बहस वगैरह ना हो. इस तरह के लोग हमेशा यही उम्मीद करते है कि उनकी अच्छाई, भलाई और केयरिंग नेचर के बदले लोग उन्हें भरपूर प्यार और सम्मान देंगे. उन्हें लगता है कि उन्हें इसी में ख़ुशी मिलेगी और जो उन्हें अपने प्यार, सेक्स और लाइफ से चाहिए, बदले में उन्हें वही मिलेगा. 

लेकिन ये आईडिया एकदम गलत है. एक नाईस  गाय  बनकर ऐसे लोग हमेशा दूसरों का मुंह ताकते रहते है, छोटे से छोटे फैसले के लिए भी दूसरों की तरफ देखते है और कई बार इसी चक्कर में बेहद सीक्रेटिव और डिसऑनेस्ट बन जाते है. ऐसे लोग अक्सर लाइफ में अकेले रह जाते है और धीरे-धीरे निराशा की तरफ बढने लगते है. 

क्या आप भी एक नाईस  गाय  है? अगर हाँ तो अब टाइम आ गया है कि अपने इस नाईस  गाय  सिंड्रोम का हमेशा के लिए ईलाज़ कर दिया जाए क्योंकि हर वक्त दूसरो को खुश रखने वाला खुद कभी खुश  नहीं  रह पाता. 

तो इस समरी में आपको कुछ अपने जैसे ही नाईस guys की स्टोरी पढने को मिलेंगी कि उन्होंने अपनी-अपनी सिचुएशन कैसे हैंडल की और इस बुक के ऑथर डॉक्टर  रॉबर्ट    ग्लवर  से आप सीखोगे कि एक नाईस  गाय  की इमेज तोड़कर हम अपनी लाइफ में सच्ची ख़ुशी, प्यार, सेक्स और सक्सेस कैसे पा सकते है. 

The Nice Guy Syndrome

 जेसन  एक 35 साल का डॉक्टर है जो बॉडी के स्ट्रक्चर को ठीक कर बीमारी को दूर करता है. इस बुक के ऑथर डॉक्टर  रॉबर्ट    ग्लवर  के साथ उसने साईंकोथेरेपी का इंडीविजुअल सेशन शुरू किया था.  जेसन  ने अपने बारे में कुछ यूं कहा था “मैं एक नाईस  गाय  हूँ, मुझसे ज्यादा नाईस  गाय  आपको आज तक  नहीं  मिला होगा” 

 जेसन  की लाइफ में हर चीज़ परफेक्ट थी सिवाए उसकी सेक्स लाइफ के.  जेसन  और उसकी वाइफ के बीच कई महीनों से फिजिकल रिलेशनशिप  नहीं  बने थे और आगे भी कोई उम्मीद  नहीं  लग रही थी.

 जेसन  की शुरू से ख्वाहिश रही थी  कि लोग उसे पसंद करे, उसे प्यार दे क्योंकि वो खुद बड़े दिलवाला था. उसे खुद पर बड़ा घमंड था कि उसे कभी गुस्सा  नहीं  आता और ना ही वो आसानी से  हर्ट होता है. वो सबकी खुशियों का खयाल रखता था. किसी से उलझना तो उसकी फितरत में ही  नहीं  था और यही एक वजह थी कि  जेसन  अपनी वाइफ से कभी अपनी फीलिंग्स शेयर  नहीं  करता था. यानी  जेसन  की तरफ से कभी कोई ऐसी बात  नहीं  होती थी जिससे कि तू-तू, मैं-मैं की नौबत आये. 

पर इन तमाम कोशिशो के बावजूद ऐसा लगता था जैसे  जेनिफ़र  उससे खुश  नहीं  है.  जेसन  ने हमेशा एक अच्छे पति और पिता का फ़र्ज़ निभाने की कोशिश की पर  जेनिफ़र  को फिर भी कोई ना कोई शिकायत रह जाती. 

एक दिन की बात है,  जेनिफ़र ऑफिस जाने की तैयारी कर रही थी तो  जेसन  ने उन दोनों की बेटी  चेल्सी  को उठाया और उसे नहला-धुला कर अच्छे कपड़े पहना दिए। उसके बाद  जेसन  खुद अपने ऑफिस की तैयारी करने लगा पर उसने देखा कि  जेनिफ़र  कुछ चिढ़ी हुई  लग रही है. 

 जेनिफ़र  ने चिढ़ते हुए कहा “ तुमने उसे ये कपड़े क्यों पहना दिए, ये उस पर ज़रा भी अच्छे  नहीं  लग रहे?” 

 जेसन  को बहुत बुरा लगा,  जेनिफ़र  को जरा भी ख्याल नहीं आया कि  जेसन  ने उसकी हेल्प करने के लिए इतना एसबी कुछ  किया था, उसे थैंक यू बोलने के बजाए वो उसके काम में कमीयां निकाल रही थी. 

फिर एक और दिन की बात है जब रात के वक्त  जेसन  ने खाने के बाद पूरा किचन साफ किया. उसने सारे बर्तन धोकर रखे, फ्लोर साफ़ किया. उसने सोचा आज तो  जेनिफ़र  जरूर खुश हो जायेगी. 

पर ये क्या? जैसे ही  जेनिफ़र  किचन में आई उसने कहा” तुमने काउन्टर क्यों  नहीं  साफ़ किए? 

 जेसन  अभी क्लीनिंग कर ही रहा था कि  जेनिफ़र  ने उसे टोक दिया, उसकी तारीफ करने के बजाये उल्टा उसने उसकी गलती गिना दी थी. 

यहाँ तक तो ठीक था पर  जेसन  की असली problem थी उसकी सेक्स लाइफ जिसे लेकर वो काफी टेंशन में था.  जेनिफ़र  सेक्स को लेकर कभी एक्साईटमेंट दिखाती ही नहीं थी. पर  जेसन  उसे कभी फ़ोर्स  नहीं  करता था क्योंकि वो एक अच्छा पति बनना चाहता था. वो अपनी तरफ से पूरा बेस्ट करने की कोशिश कर रहा था. इसके बदले में उसे अपने मैरिड लाइफ से सिर्फ एक ही चीज़ चाहिए थी और वो भी  जेनिफ़र  इग्नोर कर रही थी. 

 जेसन  ने कहा” मुझे लाइफ में सिर्फ प्यार और अपनापन चाहिए, क्या मैं  इतना भी deserve  नहीं  करता? क्या मैं कुछ ज्यादा मांग रहा हूँ”? 

इस बुक के ऑथर डॉक्टर  रॉबर्ट    ग्लवर  अपनी लाइफ में कई ऐसे नाईस  गायज़ से मिले है जिनमे से तीन की स्टोरी हम यहाँ शेयर कर रहे है. 

टॉड एक ऐसा ही नाईस  गाय  है जो औरतों के साथ बेहद ईमानदारी और तमीज़ से पेश आता है और इस बात पर उसे काफी गर्व  भी है. बहुत सारी लड़कियाँ उसकी दोस्त है जिन्हें लगता है कि जिस भी लडकी से टॉड प्यार या शादी करेगा वो बहुत लकी होगी क्योंकि वो शरीफ और तमीज़दार तो है ही साथ ही एक अच्छा लिस्नर भी है. लेकिन उनमे से एक भी लडकी ऐसी  नहीं  है जो इस दोस्ती को प्यार में बदलना चाहती थी. टॉड एक नाईस  गाय  होने के बावजूद भी सिंगल है. उसे हैरानी होती है कि लडकियों को उसके जैसा नाईस  गाय  सिर्फ दोस्त के रूप में चाहिए जबकि बॉयफ्रेंड बनाने या शादी करने के लिए उन्हें कोई रफ एंड टफ लड़का चाहिए. 

बिल एक ऐसा आदमी है जो किसी को ना  नहीं  बोल सकता. वो लोगों की मदद करने के लिए उनकी गाड़ी ठीक करता है. वो अपने गाँव की छोटी सी लीग बेसबॉल टीम का कोच भी है. उसके दोस्तों को जब भी घर शिफ्ट करना होता है, तो वो फौरन हेल्प करने पहुँच जाता है. अपनी विधवा माँ की देखभाल की जिम्मेदारी भी उसके कन्धो पर है. हर शाम वो काम के बाद अपनी माँ से मिलने जाता है. बिल हमेशा सबके काम आता है पर बदले में उसे उतना  नहीं  मिलता जितना वो दूसरों के लिए करता है. 

इसके बाद बात करते हैं गैरी की जिसकी शादी एक ऐसी औरत से हुई है जो उसे बात-बात पर इन्सल्ट करती है और आये दिन सबके सामने शर्मिंदा करती रहती है. उसकी वाइफ ने आज तक उसे कभी सॉरी  नहीं कहा, एक गैरी ही है जो हमेशा सुलह करता है और सॉरी भी बोलता है. दरअसल गैरी  नहीं  चाहता कि उसकी शादीशुदा जिंदगी में कोई तूफ़ान आये इसलिए बिना चू-चपड़ किये वो बीवी की गालियाँ और तानें सुनता रह जाता  है. अपनी बीवी की नज़रो में गैरी की ईज्जत दो कौड़ी की भी नहीं है पर इसके बावजूद गैरी उसे बेहद चाहता है और उसकी खुशामद करता रहता है . 

तो देखा आपने, आपको हर तरह के मिस्टर नाईस  गाय  मिलेंगे. सबकी अपनी-अपनी कहानी है. लेकिन डॉक्टर  रॉबर्ट ने देखा कि इनमे कुछ कॉमन ट्रेंड है. ये नाईस गाईज़ इस बात पर यकीन करते है कि जो वो करेंगे, हमेशा सही होगा और लोग उनकी तारीफ करेंगे. यही वजह है कि ये लोग अपनी जरूरतों और ईमोश्न्स को नज़रअंदाज़ करते है. उन्हें हर हाल में शांति चाहिए, चाहे अंदर वो कितने भी दुखी या टूटे हुए हो. ये अपने दिल की कभी नहीं कहते, हर बात के लिए दूसरो का मुंह ताकते है. चाहे इनकी बीवी हो या गर्लफ्रेंड या कोई दोस्त, ये सबकी खुशामद में लगे रहते हैं.  

The Making of a Nice Guy 

एक अच्छा भला मर्द भला नाईस  गाय  कैसे बन जाता है? कैसे वो अपनी फीलिंग्स और रिस्पेक्ट भूल कर दूसरों की खुशामद कर सकता है? कैसे कोई हर बात के लिए दूसरो पर dependent रह सकता है? कहाँ तक कोई दूसरो की ख़ुशी के लिए अपनी जरूरतों और फीलिंग्स की कुर्बानी देता रहेगा? 

तो डॉक्टर  रॉबर्ट कहते है कि एक नाईस  गाय  बनने की शुरुवात बचपन से ही हो जाती है. ये पॉसिबल है कि नाईस  गाय  जब छोटा लड़का रहा होगा  तो उसकी फेमिली ने उसे हमेशा इग्नोर और नेगलेक्ट किया होगा, उसकी फीलींग्स को कभी किसी ने समझा ही  नहीं. इसलिए वो शायद बचपन से ही अपनी फीलीग्स छुपाता रहा और उसे हमेशा यही लगा कि अगर उसे प्यार चाहिए तो उसे एक नाईस  गाय  बनना ही पड़ेगा. 

ये एक फैक्ट है कि किसी भी इन्सान की पैदाईश के बाद शुरुवाती पांच साल उसकी लाइफ का सबसे इम्पोर्टेंट टाइम होता है. यही वो वक्त होता है जब एक बच्चे की पर्सनेलिटी डेवलप होती है. वो अपने आस-पास के माहौल से इंफ्लुएंस होता है. इस उम्र में बच्चे के मेंटल और फिजिकल डेवलपमेंट में उसके पेरेंट्स इम्पोर्टेंट रोल निभाते है.

बचपन के बारे में कुछ ऐसे इम्पोर्टेंट फैक्ट्स है जो कई लोग  नहीं  जानते पर हम सबको इसकी नॉलेज होनी चाहिए. पहला तो ये कि जब एक बच्चा इस दुनिया में आता है तो एकदम हेल्पलेस होता है. वो पूरी तरह से अपने पेरेंट्स या देखभाल करने वालो पर dependent रहता है, उसे जो खिलाया जाए, वो खा लेगा, जैसे रखा जाए रह लेगा. इतने छोटे बच्चो को बेसहारा छोड़ने का मतलब होगा उन्हें मौत के मुंह में डालना. 

लेकिन छोटे बच्चे इगो सेंटर्ड भी होते है यानि उन्हें लगता है कि जो कुछ उनके साथ हो रहा है वो उनकी ही गलती है. अगर कोई उनके साथ बुरा बर्ताव भी करेगा तो वो उसका विरोध  नहीं  करेंगे क्योंकि उनमे इतनी समझ  नहीं  होती है. एक छोटा बच्चा अपना भला-बुरा  नहीं  समझ सकता ऐसे में कोई उन्हें इग्नोर या नेगलेक्ट करे तो भी उन्हें यही लगेगा कि ये उनकी गलती है.  

एक बच्चे की लाइफ में कई ऐसे मौके आते है जब उसे लगता है कि उसे अकेला छोड़ दिया गया है. बेचारा भूख से तड़प रहा होगा पर कोई उसे दूध पिलाने वाला  नहीं है . वो रोता रहे लेकिन कोई उसे चुप नहीं कराएगा क्योंकि कुछ लोग पेरेंट्स तो बन जाते है पर उन्हें वाकई में बच्चो की कद्र  नहीं  होती. अक्सर ऐसे पेरेंट्स अपने बच्चे को इग्नोर करते है, उन्हें बात-बात पर डांटते है, सबके सामने बेईज्जत करते है. मारते-पीटते है यहाँ तक कि बच्चे की छोटी-छोटी गलतियों पर उसे बुरी तरह सज़ा भी देते है. कई बार ऐसे भी पेरेंट्स होते हो जो अपने बच्चे को बहुत देर तक अकेला छोड़कर अपने काम से कहीं निकल जाते है. 

अगली स्टोरी जो हम सुना रहे है. वो है एक नाईस  गाय  जोस और उसके दर्दनाक बचपन के बारे में. 

जोस एक बिजनेस कंसलटेंट है. वो काफी पढ़ा-लिखा, फिजिकली एक्टिव और सक्सेसफुल लड़का है. लेकिन उसे इंटीमेट रिलेशनशिप से नफरत है. जोस अपने गुस्से को अक्सर दबाकर रखता है और उसकी हमेशा यही कोशिश रहती है कि कभी किसी का दिल ना दुखे. लेकिन साथ ही वो उसे इस बात से भी इन्कार नहीं है कि उसे सक्सेस और फेम अचीव करने की हैबिट है. 

जोस को हमेशा से ही वो औरतें अच्छी लगती है जो दूसरों पर dependent होती है। वो ऐसी औरतो की तरफ खिंचा चला जाता है. इसिलए वो अपनी गर्लफ्रेंड से भी ब्रेक-अप  नहीं  कर पाया क्योंकि उसे उसकी फाईनेंशियल problem  के बारे में मालूम था. जोस इस बात को समझता है कि अगर उसने अपनी गर्लफ्रेंड को छोड़ दिया तो वो बेचारी बर्दाश्त  नहीं  कर पाएगी. 

जोस ने अपने बारे में बताया कि वो एक ऐसे परिवार से है जिसमें अपनापन, प्यार और समझ की कमी थी. दरअसल उसके पिता बेहद गुस्सैल आदमी थे जो अपने बच्चो को अब्यूज़ किया करते थे. वो अपने बेटों के साथ मार-पीट करते थे और बेटियों को सेक्सुअली अब्यूज किया करते थे. जोस की डिप्रेशन की शिकार थी. जब भी उसे दौरे पड़ते, वो पागलो की तरह घंटो तक सफाई करती, सब कुछ शीशे की तरह चमकाकर साफ़ कर देती थी और जब उसे डिप्रेशन होता तो घर में तोड़-फोड़ करती थी और अपनी जान देने लेने की धमकी देती थी. 

जोस जब 15 का था तो एक बार उसकी माँ को दौरा पड़ गया. उसकी माँ के हाथ में भरी हुई गन थी और वो सुसाईड करने जा रही थी, जोस दरवाजा तोड़कर अंदर गया और अपनी माँ के हाथ से गन छीन ली. ये कोई नई बात  नहीं  थी, उनके घर में रोज़ इसी तरह के तमाशे होते थे. एक तरह से जोस और उसके भाई-बहनों को इस माहौल की आदत पड़ चुकी थी. 

यही एक बड़ी वजह भी थी जिसने जोस को हार्ड वर्क करने के लिए मजबूर किया ताकि वो इस फेमिली में रहते-रहते कहीं पागल ना हो जाए. अपनी फेमिली को ठीक करने की ज़िम्मेदारी जोस ने अब अपने सिर ले लिया था और हुआ ये कि वो कदम-कदम पर अपनी खुशियों के साथ समझौता करने लगा. अब जैसा कि अक्सर नाईस गाईज़ के साथ होता है, उसने अपने रिलेशनशिप और जॉब में भी समझौते करने शुरू कर दिए. यानी जोस खुद से पहले दूसरो की जरूरत और ख़ुशी को अहमियत देता था. 

जोस कहता है कि problem सोल्व करने की उसकी एबिलिटी उसके लिए एक आशीर्वाद साबित हुई क्योंकि इसके बिना शायद उसका भी वही हाल होता जो उसके पेरेंट्स या भाई-बहनों का हुआ था. 

अगर आपका भी जोस जैसा ही दर्दनाक बचपन रहा है तो यकीन मानिए आप अकेले  नहीं  है. आप जैसे कई सारे नाईस गाईज़ है जो सेम problem से गुजर रहे है या गुजर चुके है. लेकिन आप इन दर्दभरी यादो से तब तक छुटाकारा  नहीं  पा सकते जब तक कि आप अपने इमोशंस और एक्सपिरियेंस किसी के साथ शेयर नहीं कर लेते. दुःख बांटने से कम होते है इसलिए जो भी आपके साथ गुज़रा है, अच्छा या बुरा उसे भूलकर फिर से मुस्कुराना सीखिए और एक नई जिंदगी की शुरुवात कीजिये. 

Get the Sex You Want: Success Strategies for Satisfying Sex

नाईस गाईज़ की लाइफ में एक बड़ी ही कॉमन problem होती है और वो है इनकी सेक्स से जुड़ी problem. पहला तो ये कि इन्हें सेक्स में भरपूर सुख  नहीं  मिलता और उन्हें ऐसा पार्टनर मिलता है जो सेक्स में इंट्रेस्टेड ही  नहीं  होता है. दूसरा, ये भी होता है कि अक्सर इन्हें सेक्स के दौरान सेटिसफेक्शन  नहीं  मिलता है और यही वजह है कि नाईस गाईज़ की सेक्स लाइफ बुरा अनुभव बनकर रह जाती है जिससे उनके मन में यही बात आती है कि इससे तो अच्छा है कि सेक्सुअल रिलेशन बनाये ही ना जाएँ. अक्सर इनके पार्टनर भी इस problem को सोल्व करने में कोई खास दिलचस्पी  नहीं  लेते. 

तीसरी चीज़, ये भी हो सकती है कि नाईस  गाय  को सेक्सुअल dysfunction हो. शायद उसे इरेक्शन की problem आती हो या प्री-मैच्योर ejaculation की problem हो सकती है. 

चौथी बात, नाईस गाईज़ अक्सर अपनी सेक्सुअल डिजायर को दबाकर रखते है. अपनी सेक्स फैंटेसी को लेकर उन्हें एक तरह का गिल्ट फील होता है. जैसे फोन सेक्स या pornography जिनके बारे में वो किसी से शेयर नहीं करना चाहते. 

पांचवी बात, ये हो सकता है कि नाईस गाईज़ कम्पल्सिव सेक्सुअल बिहेवियर के शिकार हो जैसे कि masturbation, प्रोस्टीट्यूशन, साइबर सेक्स या एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर. 

कुल मिलाकर इन नाईस गाईज़ की सेक्स लाइफ बिल्कुल भी satisfactory नहीं  काही जा सकती. लेकिन सवाल ये है कि ये सारी problem इनके साथ होती क्यों है? 

वो इसलिए क्योंकि सेक्स की बात पर ये नाईस गाईज़ शर्म और झिझक महसूस करते है. 

यहाँ एक एक्जाम्पल है. एलन डॉक्टर  रॉबर्ट का एक क्लाइंट है. वो मिडिल age का शादीशुदा आदमी है. एलन के साथ problem ये है कि उसे एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर करने का शौक है या कह लीजिये की आदत है. लेकिन डॉक्टर  रॉबर्ट   का मानना है कि एलन को वैजीफोबिया है, जिसका मतलब है कि वो अपने सेक्सुअल पार्टनर के साथ हमबिस्तर होने से डरता है. 

एलन ने स्टोरी सुनाई कि एक बार वो अपनी एक खूबसूरत फिमेल कलीग के साथ बिजनेस ट्रिप पर गया था. वो औरत उसके साथ खूब फ्लर्ट करने की कोशिश कर रही थी और दोनों ने कई बारे सेक्सुल बातें  भी की. फिर एक शाम दोनों ने बार में जाकर ड्रिंक्स लिए और उसके बाद जाकर स्लो डांस  करने लगे. 

इसके बाद उस औरत ने एलन को अपने रूम में इनवाईट किया. एलन जब रूम में गया तो उसने एलन से कहा कि दोनों साथ में हॉट टब बाथ लेंगे. एलन बाथ टब में उतरा और उसका वेट करने लगा. थोड़ी देर बाद वो भी एक सेक्सी स्ट्रिंग बिकनी पहनकर होट टब में उतर गई. 

वो लडकी एलन की गोद में बैठ गई थी. दोनों किस करने लगे. लडकी उसके साथ चिपककर बैठी थी और अपनी बॉडी को उसकी बॉडी के साथ रगड़ रही थी. ज़ाहिर है अब एलन भी काफी एक्साईट हो गया था लेकिन जैसे ही लडकी ने उसे बिस्तर पर जाने को कहा तो एलन ने मना कर दिया. उसने कहा कि वो उसके साथ अपने वर्किंग रिलेशनशिप को खराब  नहीं  करना चाहता. 

यही कहानी उसके बाकि अफेयर्स के साथ भी हुई। वो लकड़ियों से खूब फ्लर्ट करता, प्यार-मोहब्बत की बाते करता पर जैसे ही हमबिस्तर होने की बारी आती एलन मुकर जाता था. यही वजह थी कि उसे कभी सेक्स का सच्चा सुख मिल ही नहीं पाया था. 

दरअसल एलन को  लगता था कि औरते सेक्स को बुरा समझती है. एक नाईस  गाय  होने के नाते उसे लगता था कि वो किसी औरत को डायरेक्ट सेक्स के लिए  नहीं कह सकता क्योंकि शायद उस औरत को बुरा लग जाए. 

और इस तरह एलन की सेक्स लाइफ अधूरी थी, यहाँ तक कि अपनी वाइफ के साथ भी वो कभी सेटिसफाईड होकर सेक्स  नहीं  कर पाया था. एलन सिर्फ फ्लर्टिंग में यकीन रखता था, ये उसके नाईस  गाय  सिंड्रोम का एक हिस्सा था. 

लेकिन तीन तरीके है जिससे एक नाईस  गाय  अपनी problem को सोल्व कर सकता है और अपनी सेक्स लाइफ को बेहतर  बना सकता है. पहला और सबसे जरूरी, bad सेक्स से दूर हो. दूसरा, कम आउट ऑफ़ क्लोजेट. यानि अपनी फीलिंग्स अपने पार्टनर से शेयर करो. तीसरा, अपनी problem का ईलाज़ खुद ढूंढो. 

 लाईल  एक 45 साल का कंप्यूटर प्रोग्रामर है, उसे सब पंसद करते है और वो एक समर्पित  क्रिशिचियन भी है. वो एक संडे स्कूल में पढाता भी है. वो हमेशा  लोगों  की हेल्प करने के लिए आगे रहता है. लेकिन इस परफेक्ट सोशल इमेज के बावजूद  लाईल  का एक सीक्रेट है. उसे पोर्नोग्राफी की लत है. 

वैसे वो 15 सालो से शादीशुदा लाइफ जी रहा है लेकिन ये सीक्रेट कम्पल्सिव बिहेवियर हमेशा से उसके साथ रहा था.  लाईल  दिन में कई घंटे पोर्न देखता है, फोन सेक्स और साइबर सेक्स भी करता है.  लाईल  खुद से कई बार वादा भी  कर चुका था  कि वो ये बुरी आदत छोड़ देगा पर वो इसे कभी  नहीं  छोड़ पाता. 

डॉक्टर  रॉबर्ट  कहते है कि सेक्स को लेकर अपनी शर्म और झिझक से बचने के लिए नाईस गाईज़ को सपोर्टिव  लोगों  का साथ और हमदर्दी चाहिए और उसे अपनी फीलिंग्स बाकि नाईस गाईज़ के साथ शेयर करनी चाहिए ताकि वो उसे समझ सके. नाईस गाईज़ को ये समझना चाहिए कि उनका सेक्सुल होना गंदी बात  नहीं  है. 

 लाईल  की वाइफ ने जब फोन बिल देखा तो उसे  लाईल  की इस हैबिट का पता चला. उसने कुछ रिकार्डेड नंबर पर फोन करके देखा और जब उसे पता चला कि  लाईल  फोन सेक्स और साइबर सेक्स करता है तो उसकी वाइफ दंग रह गई. शुरू में  लाईल  मना करता रहा कि ऐसी कोई बात  नहीं  है पर आखिर में वो टूट ही गया और उसने सब कुछ क़ुबूल कर लिया.  लाईल  को कई हफ्ते लगे तब जाकर वो अपनी वाइफ से सब कुछ शेयर कर पाया. 

डॉक्टर  रॉबर्ट ने सजेस्ट किया कि  लाईल  को इंडीविजुअल साईंकोथेरपी सेशन के लिए जाना चाहिए और साथ ही सेक्सुअल एडिक्ट्स के लिए एक 12 स्टेप ग्रुप थेरपी भी लेनी चाहिए. यहाँ लाईल  को अपने सीक्रेट्स और एक्सपिरियेंस बाकी सेक्स एडिक्ट्स के साथ शेयर करने का मौका मिला. अपनी feelings को शेयर करने के बाद उसे बेहद हल्का महूसस हो रहा था. अब उसके मन से डर और शर्मिंदगी दूर हो गई थी. 

एक सपोर्ट ग्रुप के अलावा  लाईल  और उसकी वाइफ अब एक दूसरे के साथ ज़्यादा खुलने लगे थे। फिर धीरे-धीरे दोनों एक दूसरे के साथ इंटिमेट होते चले गये.  लाईल  के मन से सेक्स को लेकर जो डर और झिझक थी वो अब जाता रहा और वो एक normal  इन्सान की तरह खुशहाल मैरिड लाइफ एन्जॉय कर पा रहा था. 

Get The Life You Want: Discover Your Passion and Purpose In Life, Work, and Career

जैसी लाइफ आप चाहते हो वैसी लाइफ जीने का एक ही तरीका है कि खुद को एक्सेप्ट करो. आप जैसे हो, जो हो, स्वीकार करो. खुद को किसी और के लिए बदलने की जरूरत  नहीं  है. अपने डर का सामना करो और अपने पैशन को गले लगाओ. ये स्टोरी है चार्ली की जो एक नाईस  गाय  बन–बनकर थक चुका था इसलिए फाईनली उसने अपने डर को फेस किया और लाइफ के हर चैलेंज को एक्सेप्ट किया.  

असल में चार्ली एक ऐसी जॉब में फंस गया था जो उसे जरा भी पसंद  नहीं  थी. डर और कॉम्प्लेक्स ने उसके दिल में घर कर रखा था. उसने दो साल पहले ही इंजिनियरिंग की डिग्री ली थी, इसके बावजूद वो उसी कंपनी में था जो उसने कॉलेज टाइम के वक़्त  ज्वाइन की थी. चार्ली के बॉस ने उसे वादा किया था कि उसकी ग्रेजुएशन पूरी होते ही उसका प्रोमोशन हो जाएगा, पर ऐसा नहीं हुआ. वो अभी भी उसी पोस्ट पर काम कर रहा था जबकि उसके पास इंजीनियर की डिग्री थी. 

चार्ली को ऐसी लाइफ नहीं चाहिए थी. उसका रियल पैशन था प्लेन उड़ाना. वो पायलट बनना चाहता था. लेकिन problem ये थी कि उसने ना तो कभी कोशिश की थी और ना ही उसके पास पायलट का लाईसेंस था. 

फिर एक दिन चार्ली के एक फ्रेंड ने उसे डॉक्टर  रॉबर्ट की वेबसाईट दिखाई. उसने जब नाईस  गाय  का डिस्क्रिप्शन पढ़ा तो चार्ली हैरान रह गया, उसे ऐसा लग रहा था जैसे ये उसी के बारे में लिखा गया है. वो हैरान था कि कोई उसके बारे में इतना सब कुछ कैसे जान सकता है. 

फिर कई हफ्ते बाद हिम्मत जुटाकर उसने डॉक्टर  रॉबर्ट को ई-मेल लिख ही दिया. उसे पता लगा कि उसे डॉक्टर  रॉबर्ट  का men’s  ग्रुप सेशन ज्वाइन करना होगा पर उसके लिए ये ख्याल ही बड़ा डरावना था कि उसे सबके सामने अपनी फीलिंग शेयर करनी पड़ेगी.  

चार्ली के मन में कशमकश चल रही थी. लेकिन जल्द ही उसने फैसला कर लिया, उसने सोच लिया था कि वो इस डर का सामना करेगा. उसने खुद से वादा किया कि जब भी उसे कोई चीज़ डराएगी वो उसका डटकर मुकाबला करेगा. चार्ली धीरे-धीरे ही सही पर प्रोग्रेस कर रहा था और आखिरकार उसने कर ही दिखाया. 

अगले अठारह महीनें तक चार्ली ने अपना पैशन पूरा करने के लिए कमर कस ली थी क्योंकि अब यही उसकी लाइफ का मकसद और गोल था. 

उसने ‘नो मोर मिस्टर नाईस  गाय’  ग्रुप ज्वाइन किया जहाँ उसने बाकि साथियों के सामने अपनी असली पहचान खोलकर रख दी और अपने नेगेटिव इमोशंस भी शेयर किये. 

उसने अपने पिता को भी डॉक्टर रॉबेर्ट की काउंसलिंग ज्वाइन करने को कहा. चार्ली ने अपने पिता के सामने क़ुबूल किया कि वो बचपन से ही फील करता रहा है कि कोई उसकी परवाह नहीं करता या सब उसे नज़रअंदाज़ करते हैं. उसने अपनी सारी दर्दनाक यादें शेयर की जो बचपन से उसके मन में दबी हुई थी. 

सारे बहाने छोडकर चार्ली ने सबसे बेस्ट फ्लाईंग स्कूल में एडमिशन लिया. उसने पूरी मेहनत और लगन से ट्रेनिंग पूरी की और पायलट का लाईसेंस हासिल किया. 

उसने अपनी गर्लफ्रेंड से अपने घर कि ज़िम्मेदारियों को लेकर आ रही प्रोब्लम के बारे में भी शेयर किया. 

फाईनली चार्ली ने अपनी पुरानी कंपनी में रिजाइन दे ही दिया क्योंकि उसे एक इंजीनियरिंग फर्म में अच्छी जॉब मिल गई थी जहाँ उसके टेलेंट और काबिलियत की ज्यादा कद्र हो सकती थी. 

इन अठारह महीनों में चार्ली एक इंट्रोवर्ट, पैसिव नाईस  गाय  से एक स्ट्रोंग आदमी में बदल गया था जिसकी लाइफ में एक पर्पज और पैशन था. 

चार्ली ने डॉक्टर  ग्लवर  को ई-मेल लिखकर उनके सक्सेस फ़ॉर्मूला के लिए शुक्रिया अदा किया. सबसे पहले तो चार्ली ने खुद से वादा किया कि वो कभी विक्टिम फील  नहीं  करेगा और ना ही बनेगा. दूसरा, उसने खुद पर बिलीव करना शुरू किया. वो अब खुद को एक पढे-लिखे इंडस्ट्रियल इंजीनियर के तौर पर देखता था और उसे ये भी एहसास हुआ कि वो एक जिम्मेदार एडल्ट है. उसकी पुरानी कंपनी ठीक नहीं  थी इसलिए उसे तो वहाँ से हटना ही था. 

आज चार्ली एक बेखौफ़ और सक्सेसफुल इंसान है, जो अपनी लाइफ से बेहद खुश है.  

Conclusion

तो इस समरी से आपने सीखा कि नाईस गाय कौन होता है और कैसा होता है। साथ ही इसमें आपने कई नाईस गाईज़ की कहानी भी जानी. आपने उनकी नाईस  गाय  वाली problem के बारे में भी पढ़ा और ये भी समझा कि नाईस  गाय  सिंड्रोम अक्सर हमारे बचपन से शुरू हो जाता है. 

जब किसी लड़के को उसके पेरेंट्स नेगलेक्ट करते हैं या उसे स्वीकार नहीं करते या अगर उनकी पर्सनेलिटी को दबाकर रखा जाता है  तो अक्सर ऐसे बच्चे बड़े होकर बेहद दब्बू या डरपोक बन जाते  है। ऐसे लोग अपने फैसले कभी खुद  नहीं  ले पाते बल्कि हर बात के लिए दूसरों का मुंह देखते है. एक तरह से कहे तो इनकी अपनी कोई independent सोच या पर्सनेलिटी  नहीं  बन पाती, ये जिंदगी भर दूसरों को खुश करने और सबकी हाँ में हाँ मिलाने की कोशिश करते है. 

आपने इसमें ये भी जाना कि नाईस  गाय  अक्सर सेक्स problem से जूझते है या तो इन्हें sexual  रिलेशन में भरपूर संतुष्टि  नहीं  मिल पाती या फिर ये सेक्स से रिलेटेड problem का  शिकार बन जाते है. इनके साथ सेक्सुअल dysfunction या कम्पल्सिव सेक्सुअल बिहेवियर जैसी problem  होने लगती है. 

इस problem को सोल्व करने का बेस्ट तरीका है कि आप पूरी तरह से अपने पार्टनर के प्रति ऑनेस्ट रहे और अपने डर और शर्म के परदे से बाहर निकले. 

फाईनली आपने चार्ली की कहानी सुनी कि कैसे वो अपनी नाईस  गाय  की इमेज से बाहर निकल पाया और उसने अपनी जिदंगी में कभी दोबारा  विक्टिम ना बनने और सबसे ज्यादा खुद पर भरोसा करने का फैसला लिया.  

हम उम्मीद करते है कि ये समरी आपको भी अपने नाईस  गाय  सिंड्रोम का सामना करने में मदद  करेगी क्योंकि आप कोई छोटे बच्चे  नहीं  हो, बल्कि एक समझदार adult हो और आपके अंदर वो काबिलियत है जो आपको लाइफ में हर चीज़ दिला सकती है. इसलिए अब आपको डरने, निराश या शर्मिंदा होने की जरूरत  नहीं  है. खुद पर प्राउड फील करो और लाइफ में जो आपका मन करे वो करो. 

आप भी औरो की तरह प्यार, खुशियाँ और कामयाबी डीज़र्व करते हो. जो कुछ आपने सीखा उसे अपनी लाइफ में अप्लाई करो और अपने अंदर छुपे हुए एक नए इन्सान को वेलकम करो. 

------------------------------

[Note :- the ebook is in English]

No More Mr. Nice Guy by Dr. Robert Glover Guy

no more mr nice guy ebook

TO GET FREE AUDIOBOOKS JOIN TELEGRAM

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने